Showing posts with label Dadi - nani ki kahaniya. Show all posts
Showing posts with label Dadi - nani ki kahaniya. Show all posts

Friday, 8 June 2018

अच्छी अच्छी कहानियां | achi achi kahaniya | achi kahaniya in hindi


Achi Achi Kahani - 1



एक लड़का था उसका नाम था वरदराज। वरदराज पढ़ने में बहुत कमजोर था। इस कारण सब लोग उसका मजाक उड़ाते थे, कोई मंदबुद्धि कहता तो कोई मुर्ख कहता था।

उसके सभी सहपाठी जो उसके साथ पढ़ते थे वे आगे की कक्षा में पहुँच गए लेकिन बालक वरदराज एक ही कक्षा में कई साल से पढ़ रहा था, उसे पढ़ाई लिखाई समझ में नहीं आती थी।


Sunday, 27 May 2018

पंचतंत्र की कहानी - केकड़ा और बगुला (Panchatantra)


Panchatantra - Crab And Crane

This is an image crab and crane image

एक जंगल के बीच में एक छोटा सा तालाब था। जिसमें बहुत सारी मछलियाँ और केकड़े रहते थे। एक बगुला रोज उस तालाब के पास आता और मछली पकड़ कर खाता था। एक

Thursday, 29 March 2018

लकड़हारा और जादुई कुल्हाड़ी - Lakadhara Aaur Jadui Kulhadi


लकड़हारा और जादुई कुल्हाड़ी


एक गांव में एक गरीब लकड़हारा रहता था, वह जंगल से सुखी लकड़ियाँ काटकर उसे बाजार में बेचता और उससे अपना घर चलता था।

उसका पड़ोसी उसे रोज कहता की तुम पेड़ की हरी टहनियाँ काटकर बाजार में बेचो उससे तुम्हें अधिक धन मिलेगा सुखी लकड़ियाँ हलकी होती हैं।

बच्चों की नई कहानियां  Baccho Ki Nayi Kahaniya
बच्चों की नई कहानियां - जादुई कुल्हाड़ी

लेकिन वह लकड़हारा बहुत ईमानदार था, वह यह बात समझता था की हरी टहनियाँ काटने से पेड़ों को तकलीफ होती है, इसलिए वह हमेशा सुखी टहनियों को ही काटता था।

एक दिन की बात है, लकड़हारा जंगल में बहुत देर से लकड़ी काट रहा था, दोपहर का समय हो गया था, उसने थोड़ा खाना खाया और उसी पेड़ के निचे आराम करने लगा।

Saturday, 24 March 2018

Motivational Story In Hindi - अपने अंदर की खासियत को जाने


(Motivational Story In Hindi)-

एक जंगल में एक कौआ रहता था , एक दिन उसने हंस को देखा तो उसने सोचा हंस कितना सुंदर हैं में ऐसा क्यों नहीं हूँ  वह हंस से जाकर मिला और हंस की तारीफ़ करने लगा , 


To short and good story in hindi Know the specialty of yourself
Motivational story image

हंस बोला नहीं मित्र में तो हमेशा सोचता हूँ की मुझ से सुंदर तोता हैं , क्यों की वह इंसानों जैसी आवाज भी निकाल लेता हैं , उसके पास दो रंग हैं ,


Saturday, 10 February 2018

Vikram Betal Story 03 | विक्रम बेताल


Vikram Betal Story 
कनकपुर नाम की एक सुन्दर नगरी थी | कनकपुर का राजा था यसोधन, राजा यशोधन हमेशा अपने राज्य के अच्छे के बारे में सोचता रहता , प्रजा यसोधन से बहुत प्रसन्न थी | 


एक दिन राजा यशोधन के दरबार में एक व्यापारी आया, वह अपने साथ दो नर्तकी राजा को भेंट देना चाहता था |

राजा ने जब देखा की व्यापारी नर्तकी भेंट देने आया हैं, तो उसे बहुत क्रोध आया | 

Vikram Betal Story विक्रम बेताल image
Vikram Betal

यशोधन ने कहा - व्यापारी महोदय मुझे लगा था की आप कुछ ऐसी वस्तु भेंट में देंगे जिससे राज्य का भला होगा , लेकिन आप एक नृत्य करनेवाली को भेंट देकर यह बता दिया हैं की , आप का राज्य के हित में कोई रूचि नहीं हैं | इसलिए मुझे आपका उपहार नहीं चाहिए | 

Thursday, 8 February 2018

Vikram Betal Story 2 , विक्रम - बेताल की कहानी


Vikram  Betal Story
तांत्रिक के कहने पर राजा विक्रमादित्य उस खंडहर के पास गये, विक्रम ने देखा वहाँ एक सुखा पेड़ हैं और उस पर एक मुर्दा उल्टा लटक रहा हैं |

वे मुर्दा को पेड़ से उतारने के लिए पेड़ पर चढ़ने लगे , अँधेरी रात थी |

वह मुर्दा जोर - जोर से हँसने लगा और जमीन पर गिर पड़ा | विक्रम जैसे ही उसे पकड़ने पेड़ से नीचे उतरे बेताल फिर उस पेड़ से से लटक गया |

विक्रमादित्य फिर पेड़ पर चढ़े और बेताल फिर नीचे गिर पड़ा | अगली बार वह जैसे ही नीचे गिरा विक्रम ने छलांग लगा उसे पकड़ लिया और अपने पीठ पर लाद कर ले जाने लगे |

image Vikram - Betal story 2| विक्रम - बेताल की कहानी
विक्रम - बेताल


बेताल ने विक्रमादित्य से कहा - रास्ता काटने के लिए में तुम्हें एक कहानी सुनाता हूँ | लेकिन मेरी यह सर्त हैं की तू कुछ बोलेगा नहीं , अगर तू कुछ बोला तो में वापस उड़ कर उस पेड़ पर जा लटकूँगा |



Wednesday, 7 February 2018

Vikram Betal Story - विक्रम बेताल की पहली कहानी



राजा विक्रमादित्य प्रतिदिन भगवान शिव के मंदिर जाते थे | पूजा करने के बाद वे अपनी जनता से मिलते थे | बहुत से लोग विक्रमादित्य से मिलने के लिए आते थे , उनमें से कोई उन्हें अपनी समस्या सुनाता , कोई उन्हें कुछ भेंट देने के लिए आता था |

लेकिन कुछ महीनों से एक तांत्रिक राजा विक्रमादित्य से रोज मिलने आता था , और उन्हें एक पपीता देकर  चला जाता था |

image of vikram and betal
विक्रम - बेताल की पहली कहानी


यह बात विक्रमादित्य को समझ नहीं आ रही थी , आखिर वह तांत्रिक कौन हैं ?  एक दिन महाराजा विक्रमादित्य
ने तांत्रिक के दिए हुए पपीते को काट कर देखा , जैसे ही उन्होंने पपीता काटा उन्हें बहुत आश्चर्य हुआ | 

Monday, 5 February 2018

Moral Stories | ईश्वर हमेशा देखते रहते हैं


Moral Stories

किसी समय की बात हैं , एक गाँव में एक किसान रहता था उसका एक पांच साल का बेटा था ,

किसान अपने बेटे को हमेशा अच्छी शिक्षा देता था , वह चाहता था की उसका  बेटा बड़ा होकर एक अच्छा इंसान बनें ,

एक दिन किसान अपने बेटे को साथ लेकर बाजार जा रहा था , रास्ते में उसके बेटे ने पूछा - पिताजी हमेशा कौन देखता रहता हैं ?

किसान को उसका सवाल बहुत अलग लगा , लेकिन उसने अपने बेटे से कहा - ईश्वर हमेशा देखते रहते हैं .

बच्चे ने अपना सर हिलाया और दोनों बाजार की तरफ बढ़ गए ,

Moral Stories image
Moral Stories


कुछ महीने बाद फसल काटने का समय आया , लेकिन इस साल किसान के खेत में अच्छी फसल नहीं हुई |


Saturday, 3 February 2018

बच्चों की कहानियाँ : झुमने वाला पानी - Short kids story in hindi


Short kids story in hindi


एक समय की बात हैं। किसी गाँव में बिरजू नाम का एक किसान रहता था। वह अपने यहाँ आने वाले अतिथि का बहुत खातिरदारी करता था।

एक दिन उसके घर एक अतिथि आये, किसान और उसका परिवार उनके स्वागत में लग गया, किसान की पत्नी ने बहुत ही स्वादिस्ट खाना बनाया।

Short kids story in hindi

Short kids story in hindi



अतिथि ने भरपेट भोजन किया, भोजन करने के बाद अतिथि मजाक में बोले : जी खाना तो बहुत हे स्वादिस्ट था। 


Friday, 2 February 2018

गुण और अवगुण की परख - achi achi kahaniya


एक समय की बात हैं , गुरुकुल के सभी छात्र आपस में द्वेष रखने लगे थे , सब एक दुसरे पर आरोप लगाते रहते थे। 

एक दिन यह बात गुरूजी को पता चली, वे इस बात से बहुत दुखी हुये उन्होंने शियों को समझने का कोई उपाय सोचा। एक दिन की बात हैं, गुरूजी पेड़ के निचे बैठकर शिष्यों को पढ़ा रहे थे। 

उन्होंने अपने दो शिष्यों को खड़ा किया और एक से कहा - तुम्हें इस जंगल का एक फूल तोर कर लाना हैं, लेकिन वह जंगल में सबसे अच्छा फूल होना चाहिये।

achi achi kahani
गुण और अवगुण की परख 


Sunday, 28 January 2018

पंचतंत्र की कहानी - नीला सियार | Panchtantra story in hindi


पंचतंत्र की कहानियां - रंगा सियार 


पंचतंत्र की कहानियां
पंचतंत्र की कहानियां - रंगा सियार

किसी जंगल में एक सियार रहता था। वह बहुत भूखा था, खाने की तलाश में एक दिन वह एक गाँव में घुस गया। वह जैसे ही गाँव में घुसा उसे देख कुत्ते भौंकने लगे। 

वह कुत्तों से डरकर भागने लगा और भागते - भागते एक नील से भरे बहुत बड़े बर्तन में गिर गया। कुत्ते दौरते हुये आगे निकल गये। 


Thursday, 25 January 2018

किसान के आलसी बेटे (Farmer and his Lazy Son story in Hindi)


किसी गाँव में एक किसान रहता था। उसके चार बेटे थे, लेकिन चारों बहुत आलसी थे।

किसान अपने बेटों से परेशान रहता था, एक दिन किसान ने सोचा की इनको मेहनती बनाने के लिए कोई उपाय सोचना पड़ेगा।

This is hindi stories of farmar

एक दिन किसान सुबह उठा और उसने अपने बेटों से कहा - में तीर्थ पर रहा हूँ , वापस कुछ महीने बाद लौटूंगा।


Tuesday, 23 January 2018

Moral Story For Kids - बोलने वाली गुफा और लोमड़ी


(very short hindi stories with moral)-

एक जंगल में एक शेर रहता था , एक दिन वह शिकार की ख़ोज में निकला लेकिन उसे एक भी शिकार नहीं मिला |

तभी उसे एक गुफा दिखाई दिया,  शेर ने सोचा की यह गुफा किसी जानवर का होगा ही में इसके अंदर छुप जाता हूँ ,जब वह जानवर यहाँ आएगा तो में उसका शिकार कर लूँगा |

very short hindi story with moral
Hindi Story
और शेर उस गुफा के अंदर छुप गया |

बालहंस - आम का पेड़ किसका - balhans story in hindi


एक दिन की बात हैं। राजा सुरसेन के दरबार में दो पड़ोसी मोहन और सोहन न्याय के लिए आये।

मोहन ने कहा - महाराज मैंने एक आम का पेड़ लगाया था, उसकी सेवा की थी और जब आज पेड़ में आम तोड़ने का समय आया तो मेरा यह पड़ोसी कहता हैं की वह पेड़ उसका हैं, आप न्याय करें महाराज।

balhans story in hindi
बालहंस की कहानी

फिर सोहन बोला - नहीं महाराज यह झूठ बोल रहा हैं, वह पेड़ मैंने लगाया था। मैंने उसकी देखभाल की थी, वह पेड़ मेरा हैं।

Saturday, 13 January 2018

कहानी - राजा और बुद्धिमान कवि | Moral Story - Raja aaur buddhiman kavi


Moral Story - Raja aaur buddhiman kavi
किसी समय में सुंदर नगर नाम का एक राज्य था | सुन्दर नगर की जनता बहुत मेहनती और परिश्रमी थी |

 लेकिन वहाँ पर राजा के अधिकारी उन पर बहुत अत्याचार करते थे |

 वे जनता से तीनगुना ज्यादा लगान वसूलते थे ,लेकिन राजा को इस बात की जानकारी नही थी  | 

उस नगर में एक कवि भी रहता था वह बहुत बुद्धिमान था | वह उन अधिकारियों से दुखी रहता था |

एक दिन कवि राजा के महल पहुँचा , द्वार पर सैनिक ने उसे रोका और राजा से मिलने का कारण पूछा..?

कवि ने कहा - में राजा को अपनी नई कविता सुनना चाहता हूँ |

this is a story in hindi
Acchi kahaniya

सैनिक ने उसे अंदर जाने देने के लिये पांच चाँदी के सिक्के माँगे |

कवि ने कहा - मेरे पास अभी पांच चाँदी के सिक्के नहीं हैं |

Friday, 12 January 2018

Kids story in hindi - बत्तख ने दिया सोने का अंडा


Kids story in hindi

एक गाँव में एक किसान रहता था | उसके पास एक बत्तख था | किसान उसे बहुत अच्छे से रखता था |

एक दिन जब किसान खेत से लौटा तो उसने देखा उसके बत्तख ने सोने का अंडा दिया हैं |

this is a kids story image and its good image
kids story in hindi

यह देख किसान बहुत खुश हुआ , उसके दिन के बाद से वह बत्तख रोज एक सोने का अंडा देती थी और किसान उस अंडे को बेच कर पैसा ले आता था |

Tuesday, 2 January 2018

हाथी की मित्रता | Short Kids moral Story in Hindi | Elephant Story in Hindi


Short Kids Moral Story in Hindi


बहुत पुरानी बात हैं।  एक जंगल में एक हाथी रहता था।  एक दिन वह कहीं जा रहा था उसने एक हिरण को देखा।

हाथी बोला - हिरन भाई क्यों तुम मुझ से दोस्ती करोगे।

हिरन बोला - अरे तुम कितना बड़े हो में तुमसे दोस्ती क्यों करू

Short Kids Moral Story in Hindi
Elephant Story in Hindi

हाथी आगे गया  उसने एक लोमड़ी को देखा..!!

Sunday, 31 December 2017

Small story for kids - बकरी बनी भेड़िया


मदन नाम के एक किसान था  उसके पास एक बकरी थी | बकरी को भेड़िया बनने का बहुत सौख था | 

वह हमेशा यही सोचती रहती थी की  कितना बढ़िया होता में भेड़िया होती, मुझसे सभी छोटे - मोटे जानवर डरते |

 एक दिन बकरी जंगल में घास चरने गयी ,  वो मजे से घास खा रही थी 
small best kids story
Small story for kids

तभी उसने एक भेड़िये की खाल देखी |

Saturday, 23 December 2017

राक्षस और झील | Best moral story in hindi


एक जंगल था | उसमे बहुत से जानवर रहते थे , जंगल के बीच में एक झील थी जिसका पानी जंगल के सभी जीव

 जंतु पीते थे |

 एक दिन की बात है जंगल के झील से एक राक्षस निकला उसने सभी जंगल में रहने वालों से कहा - आज के 

बाद अगर किसी ने इस झील का पानी पिया तो में उसे खा जाऊंगा, यह सुन सभी जानवर भयभीत हो गये |  


उस दिन के बाद से कोई भी उस झील का पानी पीने नही जाता था |
animals and human in this story
Best moral story

 कुछ समय बाद जंगल में सुखा पर गया , जंगल के सभी छोटी - छोटी नदियाँ सुख गयी , फिर एक दिन सभी