कहानी : चूहे की मजदूरी | Short Mouse Story in Hindi For Class Class 3 | Chuhe ki kahani


Mouse Story in Hindi


Mouse Story in Hindi
Mouse Story in Hindi

बहुत समय पहले की बात हैं। उस समय आदमी के पास धान नहीं था। सबसे पहले आदमी ने धान का पौधा एक नदी के बीच में देखा। धान का पौधा झूम - झूम कर जैसे आदमी को बुला रहा था। 

मगर गहरे पानी के कारण आदमी का धान तक पहुँचना बहुत कठिन था। आदमी यह सोचता हुआ किनारे पर खड़ा ही था, उसी समय उसे एक चूहा दिखायी दिया। 

आदमी ने चूहे को पास बुलाया और कहा - चूहे भैया इस नदी के बीच में देखो उस धान के सूंदर - सूंदर पौधों को वो झूम - झूम कर मुझे बुला रहे हैं। लेकिन पानी बहुत गहरा हैं, अगर तुम वह धान हमारे लिए ला दोगो तो हम तुम्हें मेहनत का हिस्सा दे देंगे। 

चूहे ने आदमी की बात सुनी, उसे वह अच्छा लगा। वह तुरंत पानी में तैरते हुये गया और धान की बीजों को दांतों से काट काट कर लाने लगा। कुछ ही देर में नदी के किनारे पर धान का ढेर बन गया।

तब आदमी ने कहा - चूहे भैया अब इसमें से अपने हिस्से की मजदूरी तुम खुद ले लो। 

लेकिन चूहे ने कहा - किसान भैया में तो ठहरा छोटा सा चूहा। में यह धान कहाँ लेकर किधर जाऊँगा। इससे अच्छा तो यह होगा की तुम ही मेरे हिस्से का सारा धान ले जाओ। 

उसे अच्छे से खेत में उगाओ और में वहीं आकर अपने हिस्से का थोड़ा - थोड़ा धान खाता रहूँगा। आदमी ने ऐसा ही किया और कहते है की चूहा तभी से किसान के खेत में धान खाता चला आ रहा हैं। 

Related Stories in Hindi -

No comments:

Post a Comment