Thursday, 10 January 2019

बंदर और मगरमच्छ की कहानी - Monkey and Crocodile Story in Hindi


बंदर और  मगरमच्छ की कहानी 


Monkey and Crocodile story in Hindi
बंदर और मगरमच्छ 

जंगल में एक नदी किनारे एक जामुन का पेड़ था। उस पेड़ पर एक बंदर रहता था, वह रोज पेड़ से मीठे - मीठे जामुन तोड़कर खाता था।

एक दिन की बात हैं, उस पेड़ की नीचे खाने की तलाश में एक मगरमच्छ आया.....बंदर ने एक जामुन तोड़ उसकी तरफ फेंका मगरमच्छ बहुत भूखा था उसने तुरंत वह जामुन खा लिया।

मगरमच्छ को जामुन का स्वाद बहुत अच्छा लगा उसने उस बंदर से दोस्ती कर लिया। अब रोज  मगरमच्छ उस पेड़ के नीचे आता और बंदर उसे रोज जामुन खिलाता था।

वे दोनों बहुत अच्छे दोस्त बन गये। बंदर मगरमच्छ को पेड़ पौधों के बारे में बताता और बदले में मगरमच्छ बंदर को नदी के बारे में बताता इस तरह वे बहुत बात करते थे।

एक दिन मगरमच्छ ने कुछ जामुन अपनी पत्नी को भी खिलाया, जामुन मगरमच्छ की पत्नी को बहुत मीठा लगा, उसने सोचा की यह एक जामुन इतना मीठा है तो जो बंदर रोज यह जामुन खाता है उसका दिल कितना मीठा होगा।

यह सोच उसने अपने पति से उस बंदर का दिल माँगा। मगरमच्छ ने उसे समझाया की बंदर उसका दोस्त हैं, मगर उसकी पत्नी जिद करने लगी और बीमार होने का बहाना बनाने लगी।

अपनी पत्नी के जीद के कारन हारकर मगरमच्छ ने एक योजना बनाया और उसने बंदर से जाकर कहा - दोस्त बंदर मेरी पत्नी ने तुम्हारा दिया हुआ जामुन खाया उसे वह बहुत अच्छा लगा वह तुमसे मिलना चाहती हैं।

बंदर ने कहा - दोस्त इसमें क्या बात हैं चालों में तुम्हारी पीठ पर बैठ जाता हूँ और तुम मुझे अपने घर ले चलो में भी बहुत दिनों से नदी घूमने के बारे में ही सोच रहा था।

बंदर मगरमच्छ की पीठ पर बैठ गया और मगरमच्छ उसे अपने घर ले जाने लगा. रास्ते में मगरमच्छ ने सोचा की बंदर को सभी बात बता देता हूँ यहाँ तो चारो तरफ पानी है बंदर कहीं भी भाग नहीं सकता हैं।

मगरमच्छ ने उस बंदर को सभी बातें सच बता दिया, यह सुन बंदर ने कहा - यह बात तुम अब बता रहे हो मगर मैं अपना दिल उस जामुन के पेड़ पर ही रखकर आया हूँ। तुम जल्दी से उस  तरफ चलो, में अपना दिल लेकर आता हूँ।

यह सुन मगरमच्छ उस पेड़ के तरफ आ गया, बंदर झट से पेड़ पर चढ़ गया और बोला - मुर्ख मगरमच्छ बंदरों का दिल उसके पास में ही होता हैं कोई अपना दिल पेड़ पर नहीं रखता, अब तुमसे दोस्ती समाप्त।

***

सीख - इस कहानी से हमें यह सीख मिलती हैं की मुशीबत में हमेशा बुध्दि से काम लेना चाहिये। 

ये कहानियाँ भी पढ़ें -

No comments:

Post a Comment