शेर और बंदर की कहानी - Sher aur Bander ki Kahani in Hindi


शेर और बंदर की कहानी 


एक बार की बात हैं, चम्पक वन में झगड़ू नाम का एक शेर राजा था। वह बहुत ही बलवान और घमंडी हुआ करता था। वह किसी भी जानवर को मार देता था। 

चम्पक वन के सभी जानवर झगड़ू से डरते थे, शेर का नाम सुनकर ही सभी जानवर भाग जाते थे।

 Sher aur Bander ki Kahani in Hindi
शेर और बंदर की कहानी

लेकिन जंगल में एक गोलू नाम का बंदर भी रहता था। 

गोलू बंदर उस झगड़ू शेर की बहुत हंसी उडाता था। शेर उससे बहुत गुस्सा करता लेकिन बंदर तो हमेशा पेड़ पर रहता था। शेर उसका शिकार नहीं कर सकता था। 

एक दिन की बात हैं, शेर एक बहुत से बड़े गड्ढ़े में गिर गया, गड्ढ़ा बहुत ही गहरा था, शेर उससे बाहर नहीं निकल पा रहा था। 

गोलू बंदर को शेर की हंसी उड़ाने का एक बहाना मिल गया, उसने तुरंत शेर का मजाक बनाना शुरू कर दिया। 

वह बोला - क्यों झगड़ू अब तक तो तुम बहुत बड़ा राजा हुआ करता थे..अब क्या हुआ। 

तुम एक चूहे को भी नहीं मार सकते, जानवर तुमसे ऐसे ही भाग जाते हैं।

इस तरह बोलता हुआ बंदर एक डाल से दूसरी डाल पर कूद रहा था, बंदर शेर की खूब हंसी उड़ा रहा था, अचानक उसका ध्यान हटा और डाल टूट गयी। बंदर शेर के पास जा गिरा। 

बंदर बोला - हुकुम माफ़ कर दीजिये में तो बस माफी मांगने आया था। 

झगड़ू शेर ने सोचा की बंदर माफी मांग रहा हैं। वह बहुत खुश हुआ। लेकिन गोलू बंदर तुरंत छलांग लगा कर गड्ढ़े से बाहर निकल गया। 

गोलू बंदर बोला - डाल टूट गयी थी झगड़ू इसलिये में निचे गिर गया था।

जंगल के जानवरों ने झगड़ू को गड्ढ़े में गिरा देखा तो सोचा की अब हमें किसे अपना राजा बनाना चाहिये सबने सोचा की हम गोलू बंदर को अपना राजा बनाना चाहिये। 

सभी जानवरों ने मिलकर गोलू बंदर को नया राजा बना दिया और चम्पक वन के सभी जानवर ख़ुशी से रहने लगे। 

सीख - इस कहानी से हमें यह सीख मिलती हैं की कभी भी घमंड नहीं करना चाहिए और हमेशा बुद्धि से काम लेना चाहिए।

***

दोस्तों शेर और बंदर की कहानी आपको कैसी लगी हमें कमेंट कर के बता सकते हैं, इस वेबसाइट पर ऐसी ही रोचक कहानियाँ और अन्य लेख उपलब्ध हैं, अगर आपको यह कहानी अच्छी लगी तो इसे शेयर जरूर करें।

ये कहानियाँ भी पढ़ें -


No comments:

Post a Comment