r

Monday, 20 August 2018

प्यासा कौवा - pyasa kauwa

 प्यासा कौआ की कहानी


एक दिन की बात हैं। एक कौवा था, वो बहुत ही प्यासा था। वह पानी की तलाश में इधर - उधर भटक रहा था।

लेकिन उसे कहीं पानी नजर नहीं आ रहा था, बहुत देर खोजने के बाद उसे एक घड़ा दिखाई दिया।

कौए ने पास जाकर देखा तो घड़ा में बहुत कम पानी था,  कौए का चोंच वहाँ नहीं पहुँच सकती थी।

pyasa kauwa
प्यास कौवा
फिर कौए ने एक उपाय सोचा, उसने देखा की घड़ा के बगल में कुछ छोटे - छोटे कंकड़ के टुकडे गिरे हुए है।


कौआ एक कंकड़ अपने चोंच से उठाता और घड़ा में डाल देता, ऐसे ही उसने बहुत सारा कंकड़ उठाया और घड़े में डाल दिया।

कंकड़ के कारण पानी उपर आ गया। कौए ने जी भर पानी पिया और ख़ुशी ख़ुशी उड़ गया।

दोस्तों इस कहानी से हमें शिक्षा मिलती है कि कठिन समय मैं बुद्धी से कम लेना चाहिए, जैसा उस कौवा ने लिया।

ये कहानियाँ भी पढ़ें - 

No comments:

Post a Comment