r

Sunday, 6 May 2018

पंचतंत्र की कहानी - शेर और चूहा / Panchtantra ki kahani - Lion and Mouse

Panchtantra ki kahani - Lion and Mouse

किसी जंगल में एक शेर रहता था , वह बहुत ही ज्यादा बलवान तथा खतरनाक था , एक दिन शेर एक पेड़ के  नीचे सोया था , जहाँ शेर सोया था उसी के पास

में एक चूहे का बिल भी था , जब चूहा बिल से बाहर निकला तो उसने शेर को सोया हुआ देखा , चूहा शेर को घबराता हुआ भागने लगा लेकिन तभी शेर की 

नींद खुल गई और उसने एक ही झटके में चूहे को अपने पंजे में पकड़ लिया , चूहा ने कहा ..महाराज आप तो जंगल के राजा हैं में ठहरा छोटा जीव मुझे मार 

क्या आपकी भूख मिटेगी ?

panchtantra ki kahani
panchtantra ki kahani

शेर बोला  अरे नहीं में इस जंगल का राजा जरुर हूँ लेकिन मेरा कोई दोस्त नहीं इसलिएतुम मेरे दोस्त बन जाओ 



चूहा अचंभित था , लेकिन उसने सोचा चलो ठीक हैं शेर से दोस्ती चूहे की अच्छी बात हैं .....वह मान गया |



अब शेर और चूहा रोज साथ में जंगल घुमते थे , शेर की पीठ पर बैठ चूहा पूरे जंगल में सैर करता था , एक दिन 

की बात हैं एक शिकारी ने शेर को पकडने के लिए बहुत बड़ा जाल बिछाया , शेर उधर से गुजरा और वह जाल में 

फँस गया , उसने बहुत कोशिस की लेकिन वह जाल से बाहर नहीं निकल सका ,




लेकिन कुछ ही देर बाद चूहा शेर को मित्र  मित्र आवाज लगता हुआ वहाँ से गुजरा और शेर को चूहे को देख बहुत 

ख़ुशी हुई , चूहे ने कहा ...घबराओ मत दोस्त में चुटकी में इस जाल को काट दूँगा ,

चूहे ने उस जाल को तुरंत काट दिया और शेर बाहर निकल गया , शेर ने चूहे का धन्यवाद दिया और दौनों की दोस्ती और मजबूत हो गयी ......|



शिक्षा ...सच्चा दोस्त वही हैं जो मुश्किलमें काम आता हैं जैसा चूहे ने दिया....!!

No comments:

Post a Comment