Respect for the farmer - किसान के लिए सम्मान


(The social story for Respect for the farmer)

एक बार की बात हैं , किसी नगर में एक राजा रहता था वह बहुत ही धनवान था , वह हमेशा और अधिक धन कमाने के चक्कर में पड़ा रहता था। 

एक दिन राजा को सपने में भगवान् मिले , राजा ने भगवान् को प्रणाम किया , भगवान् ने राजा से खुश होकर कहा तुम्हें जो चाहिए मुझ से मांग लो , राजा ने कहा मुझे ऐसा वरदान दीजिये की में जिसे भी अपने हाथों से स्पर्श करू वह तुरंत सोना हो जाए , भगवान् ने कहा ठीक हैं , ऐसा ही होगा। 

जब राजा उठा तो सबसे पहले कुछ पत्थर का टुकरा मँगाया और उसे जैसे ही छुआ वह तुरंत सोने का हो गया , सभी चकित हो गए ,

The social story for Respect for the farmer
Respect for the farmer

राजा ख़ुशी से झूम उठा और उसने बहुत सारे पत्थर लोहा और लकड़ी को छुआ वह सब तुरंत सोना हो गया , इसी तरह राजा ने बहुत सारा सोना बना अपने खजाने में रख लिया।  

कुछ देर बाद जब वह खाना खाने गया तो जैसे ही उसने खाने को स्पर्श किया वह तुरंत सोने का हो गया , पानी को भी जैसे ही राजा स्पर्श करता वह भी सोने का हो जाता था , राजा परेशान हो गया। 

और अंत में वह थक कर भूखा ही सो गया। 

उसके सपने में फिर से भगवान् आये , राजा ने भगवान् को जैसे ही देखा उन्हें प्रणाम किया और कहा - भगवान् आपने जो वरदान दिया हैं। 

वह वापस ले लीजिये अगर मेरे पास सिर्फ धन ही होगा और में खाना भी नहीं खा सकता तो वह मेरे किस काम का इसलिए आप मुझे वापस पहले जैसे बना दीजिये , भगवान् ने कहा ठीक हैं ऐसा ही होगा। 

दुसरे दिन जब राजा उठा तो उसके खजाने में वो सोना वापस लकड़ी ,लोहा और पत्थर बन चुके थे , अब राजा बहुत खुश था और वह समझ गया की अन्न की क्या कीमत हैं , उसने अपने राज्य के सभी किसान को बुला उन्हें पुरस्कार दिया और उन्हें सम्मानित किया |

आज हमारे भी देश में बहुत से लोग अन्न की बर्बादी करते हैं ,अक्सर कुछ खाते हैं और कुछ फेंकते हैं , सड़कों पर कचरों के ढेर में बहुत सारा खाना बांध कर फेंका रहता हैं।  

इस कहानी के जरिये में उन सभी लोगों से कहना चाहता हूँ , जिनकी अन्न या खाना फेंकने की आदत हैं , वे इस बुरे आदत को जल्दी छोड़ दीजिये....हमारे देश के किसान कितनी मेहनत से फसल उगते हैं , उनकी मेहनत को इतनी आसानी से मत बर्बाद करिये ,  हमारे ही देश में बहुत से लोग भूखे भी रहते हैं जिनके पास खाने को अन्न नहीं हैं अगर आप खाना को बर्बाद होने से बचायेंगे तो इसमें सबका अच्छा हैं। 

यह कहानी पसंद आये तो एक बार share कर दीजिये  जय जवान जय किसान 

-सोनू कुमार 
 कक्षा - 7
                                                                        share -  The social story for Respect for the farmer 

No comments:

Post a Comment