Tuesday, 23 January 2018

Moral Story For Kids - बोलने वाली गुफा और लोमड़ी

(very short hindi stories with moral)-

एक जंगल में एक शेर रहता था , एक दिन वह शिकार की ख़ोज में निकला लेकिन उसे एक भी शिकार नहीं मिला |

तभी उसे एक गुफा दिखाई दिया,  शेर ने सोचा की यह गुफा किसी जानवर का होगा ही में इसके अंदर छुप जाता हूँ ,जब वह जानवर यहाँ आएगा तो में उसका शिकार कर लूँगा |

very short hindi story with moral
Hindi Story
और शेर उस गुफा के अंदर छुप गया |
कुछ देर बाद वहाँ एक लोमड़ी आयी , यह गुफा उस लोमड़ी की ही थी,

लोमड़ी ने देखा की उसके गुफा में किसी बड़े जानवर के जाने के निशान हैं,

गुफा के अंदर बैठा शेर ने किसी जानवर के आने की आवाज सुनी , वह खुश हो गया , अब तो शिकार मिल ही गया ,

लोमड़ी ने सोचा की अभी इस गुफा में जाना ठीक नहीं होगा इसलिए पहले यह पता करना पड़ेगा की यह जानवर कौन हैं ,

लोमड़ी ने गुफा से कहा - गुफा आज तुम मेरा स्वागत नहीं करोगे रोज तुम मेरा स्वागत करते हो,

शेर यह सुन रहा था , लेकिन वह चुप रहा कुछ नही बोला ,

लोमड़ी फिर बोली - गुफा आज तुम क्यों नहीं बोल रही हो,

शेर ने सोचा शायद यह गुफा लोमड़ी का स्वागत करता हैं , आज मेरे डर से नहीं बोल रहा हैं |

शेर अंदर से बोला - स्वागत हैं आपका लोमड़ी अंदर आईये |

लोमड़ी शेर की आवाज पहचान गयी , वह समझ गयी की गुफा में शेर मेरा शिकार करने के लिए बैठा हैं और वह जान बचा कर भाग गयी |

शिक्षा - मुश्किल समय में बुद्धि से काम करना चाहिए जैसे लोमड़ी ने किया 

Related Story-

ख़रगोश की योग्यता

घोंसला किसका

घमंडी शेर और ख़रगोश

हाथी की मित्रता

कहानी - राजा और बुद्धिमान कवि

No comments:

Post a Comment