r

Tuesday, 23 January 2018

Good Hindi Story - आम का पेड़ किसका

Good Hindi Story

एक दिन की बात हैं | राजा सुरसेन के दरबार में दो पड़ोसी मोहन और सोहन न्याय के लिए आये |

मोहन ने कहा - महाराज मैंने एक आम का पेड़ लगाया था उसकी सेवा की थी और जब आज पेड़ में आम तोड़ने का समय आया तो मेरा यह पड़ोसी कहता हैं की वह पेड़ उसका हैं , आप न्याय करें महाराज |

this isimage og stories
Hindi Story

सोहन ने कहा - नहीं महाराज यह झूठ बोल रहा हैं वह पेड़ मैंने लगाया था |

दोनों राजा से न्याय मांग रहे थे | राजा सुरसेन सोच में पड़ गए आखिर यह पेड़ किसका हैं |

राजा ने कहा की जाओ इसका फैसला हम कुछ दिन बाद करेंगे |

दोनों मोहन और सोहन चले गए | उनके जाने के बाद राजा ने एक उपाय सोचा |

अगले दिन राजा ने अपने कुछ सैनिकों को डाकू के जैसा कपड़ा पहना कर उसे वह पेड़ काटने को कहा |

जब डाकू पेड़ काटने चले गए तो राजा ने अपने दो नौकर से कहा जाओ मोहन और सोहन से कहना की डाकू पेड़ काट रहे हैं |

मोहन को जैसे ही खबर मिली की डाकू उसका पेड़ काट रहे हैं , वह हाथ में एक डंडा लेकर दौरा |

सोहन को भी नौकरों ने यह खबर दिया की डाकू तुम्हारा पेड़ काट रहे हैं , लेकिन सोहन देखने भी नहीं गया की डाकू सच में हैं या कोई दूसरा उसका पेड़ काट रहा हैं |

मोहन ने डंडे से सभी डाकुओ को मार - मार कर घायल कर दिया |

कुछ दिन बात दोनों मोहन और सोहन राजा के दरबार में फिर से पहुँचे |

राजा ने कहा - तुम्हारे पेड़ को काटने के लिए डाकू मैनें ही भेजा था |

 मोहन ने डाकुओ से अपने पेड़ को बचाया क्यों की उसने यह पेड़ लगाया था |

और यह सोहन सिर्फ झूठ बोल रहा हैं अगर इसने यह पेड़ लगाया होता तो एक बार देखने तो जरुर जाता , इसलिए इस सोहन को झूठ बोलने के अपराध में सौ कोड़े मारो |

सोहन ने अपनी गलती स्वीकार कर लिया और मोहन को उसका पेड़ वापस मिल गया |


Related Story-

बोलने वाली गुफा और लोमड़ी

घोंसला किसका

घमंडी शेर और ख़रगोश

हाथी की मित्रता

कहानी - राजा और बुद्धिमान कवि

No comments:

Post a Comment